Bol Bindas || यहां चारों ओर जर्जर सड़क ही मिलेगी

0
194

विकास पर खड़ा हो रहा सवाल…..

विवेक चौबे, गढ़वा

 

गढ़वा : एक ऐसा पंचायत जहां चारों ओर जर्जर सड़क ही मिलेगी। हास्यपद तो यह कि पंचायती राज होने के बावजूद भी सड़क की ऐसी दुर्दशा है जो विकास पर सवाल खड़ा कर रही है। जीपीएस द्वारा प्रत्येक पंचायतों से आवश्यक कार्यों को लेकर सूची तैयार कर सभी पंचायत समिति सदस्यों को जमा करने का निर्देश दिया गया था। पंचायत समिति सदस्य ने पंचायत की समस्या की सूची तैयार कर दिया भी, जिसमें मुख्य रूप से 14 मांगें शामिल हैं। दो माह बीत गया, किन्तु कोई कार्य प्रारंभ होते धरातल पर नहीं दिख रहा है। जी हां, हम बात कर रहे हैं जिले के कांडी प्रखण्ड क्षेत्र अंतर्गत चटनिया पंचायत की। ग्रामीण जनता की समस्या सुनने के लिए पंचायत समिति सदस्य- उषा देवी मुख्य रूप से उपस्थित थीं। ग्रामीणों ने बताया कि बरसात के दिनों में किसी भी गली मुहल्ले व मुख्य सड़कों की स्थिति बद से बदतर है। वहीं पंचायत समिति सदस्य- उषा देवी ने कहा कि जीपीएस द्वारा सभी पंचायत समिति सदस्यों से पंचायत की समस्या जैसे नाली, सड़क, चबूतरा आदि के निर्माण हेतु सूची मांगी गई थी। क्रियान्वित की जाने वाली आवश्यक कार्यों की सूची में घोड़दाग गांव के दुहनवा नाला पर पुलिया, देवी धाम व स्वास्थ्य उपकेंद्र के पास पीसीसी पथ, गुंडी टोला पर चबूतरा, मुख्य सड़क से ठेगा महरा के घर तक पीसीसी, गोपी यादव के टोला पर बिरनाथ स्थान के पास चबूतरा निर्माण, बहेरवा खाड़ी टोला में स्थित विद्यालय से नथन यादव के घर तक पीसीसी, सुगवा दामर पाल टोला पुल से नथुनी यादव के घर तक पीसीसी, घोड़दाग गांव में तिनमुहान से परमेश्वर यादव के घर तक नाली, पकवा आहर विरनाथ के पास चबूतरा, चटनिया में चनर यादव के विरनाथ के पास चबूतरा, गिघवा टोला में चबूतरा, झुरवाजरही, हरिजन टोला में चापाकल, कुसुआडेरा के विरनाथ स्थान पर चबूतरा, दवाड़ टोला में चबूतरा का निर्माण करना सहित कई अन्य समस्या भी शामिल है। तैयार की गई सूची 5 मई को ही दिया गया है। दो माह बीत जाने के बाद भी कोई कार्य अब तक भी प्रारंभ नहीं हुआ। साथ ही वही सूची कांडी प्रखण्ड कार्यालय के बाहर कोरोना महामारी के कारण रखे पेटी में भी डाला गया। पंचायत समिति सदस्य- उषा देवी ने जानकारी देते हुए बताया कि घोड़दाग गांव में अवस्थित प्राथमिक विद्यालय से लेकर उमेश यादव के घर तक सड़क की स्थिति नारकीय हो गई है। साथ ही उपस्वास्थ्य केंद्र तक तकरीबन 1 सौ फीट से अधिक की दूरी तय करने वाली सड़क जर्जर स्थिति में है। उक्त स्वास्थ्य केंद्र पर कई अन्य पंचायतों से भी डिलेवरी पेशेंट आती हैं। आने जाने वाली उक्त सड़क का निर्माण अति आवश्यक है। वहीं उक्त गांव के वार्ड संख्या 10 में भी सड़क की स्थिति जर्जर है। जबकि अम्बेडकर टोला यानी वार्ड संख्या- 09 में तकरीबन 50 घर हैं। जहां से लोगों को कहीं आना व जाना बहुत बड़ी चुनौती का सामना करने के जैसा ही है। चुकी उक्त टोला पहाड़ी जैसी टीलानुमा पर अवस्थित है। उक्त टोला के लोगों को तब काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है, जब किसी मरीज को इलाज हेतु अस्पताल ले जाने के लिए उक्त पहाड़ी से काफी गहराई में नीचे उतरना पड़ता है। यदि किसी प्रकार उतर भी गए तो तुरन्त ही दो तालाब मिलता है, जिसके बीच से होकर कच्ची सड़क गई है, जहां बरसात के दिनों में वह सड़क दिखती भी नहीं है। यहां पुल व सड़क का निर्माण बहुत जरूरी है। पंचायत समिति सदस्य- उषा देवी ने सरकार व जिला पदाधिकारियों से उक्त सभी समस्याओं से निजात दिलाने हेतु मांग की है। मौके पर- बीडीसी प्रतिनिधि- नंदलाल प्रसाद गुप्ता, सीताराम चंद्रवंशी, नंदू प्रजापति, संतोष प्रजापति, नन्हकू प्रजापति, रामलाल गुप्ता, हरिप्रसाद शर्मा, अमीरका यादव, गुड्डू कुमार रवि, शम्भू राम, भोला राम, सुदामा राम, मनोज राम, कैलाश राम, सूर्यदेव राम, प्रमोद राम, श्यामबिहारी राम, फुलमतिया कुवंर, अनिता देवी, फुलवा देवी, प्रभा देवी, चम्पा देवी, सिमा देवी सहित काफी संख्या में महिलाएं व पुरुष उपस्थित थे।

Please follow and like us: